विश्व बाल श्रम निषेध दिवस 2021

चर्चा में क्यों है?

प्रतिवर्ष 12 जून को ‘विश्व बाल श्रम निषेध दिवस’  मनाया जाता है।

बाल श्रम दिवस 2021 की थीम क्या है?

इस वर्ष  की ‘थीम एक्ट: नोऊ एंड चाइल्ड लेबर’ रखी गई है।

उद्देश्य

इस दिवस का मुख्य उद्देश्य बाल श्रम की वैश्विक स्थिति पर ध्यान केंद्रित करना तथा बाल श्रम को पूरी तरह से समाप्त करना है।

पृष्ठभूमि:

अंतर्राष्ट्रीय श्रम संगठन’ (ILO) द्वारा वर्ष 2002 में जागरूकता पैदा करने के लिए विश्व बाल श्रम विरोधी दिवस की शुरूआत की गई थी।

महत्व

  • यह दिवस मुख्य रूप से बच्चों के विकास पर केंद्रित है।
  • यह बच्चों के लिए शिक्षा और गरिमापूर्ण जीवन के अधिकार की रक्षा करता है।

बाल श्रम निषेध के लिए संवैधानिक प्रावधान

  •  अनुच्छेद 15 (3) – बच्चों के लिए अलग से क़ानून बनाने का अधिकार देता है
  •  अनुच्छेद 21 – (6 -14) वर्ष के बच्चों को निःशुल्क और अनिवार्य शिक्षा का अधिकार
  • अनुच्छेद 23 – बच्चों की ख़रीद और बिक्री पर रोक लगाता है
  • अनुच्छेद 24 – 14 वर्ष से कम उम्र के बच्चों को ख़तरनाक कामों में प्रतिबन्ध
  • अनुच्छेद 39 – नीति निर्देशक सिद्धांत के अंतर्गत आने वाला ये अनुच्छेद में बच्चों के स्वास्थ्य और उनके शारीरिक विकास के लिए ज़रूरी सुविधाएं उपलब्ध कराने का आदेश देता है।
  • अनुछेद 45 – नीति निर्देशक सिद्धांत के अंतर्गत आने वाला इस अनुच्छेद में भी 6 वर्ष से कम उम्र के बच्चों की देखभाल और शिक्षा की ज़िम्मेदारी राज्यों की है।
  • अनुच्छेद 51 A – माता पिता पर बच्चों की शिक्षा के लिए अवसर प्रदान करने का एक मौलिक कर्तव्य निर्धारित करता है

निष्कर्ष

यह दिवस न केवल बच्चों के विकास और संवर्धन के लिए आवश्यक उपयुक्त वातावरण पर ध्यान केंद्रित करता है, बल्कि बाल श्रम के खिलाफ अभियान में भाग लेने के लिए सरकारों, नागरिक समाज, स्कूलों, युवाओं, महिलाओं के समूहों और मीडिया से समर्थन प्राप्त करने का अवसर भी प्रदान करता है।