अंतर्राष्ट्रीय बाघ दिवस

चर्चा में क्यों है ? प्रत्येक वर्ष 29 जुलाई को बाघों के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए ,अंतर्राष्ट्रीय बाघ दिवस मनाया जाता है। पृष्ठभूमि अंतर्राष्ट्रीय बाघ दिवस की स्थापना …

Read More

विश्व प्रकृति संरक्षण दिवस World Nature Conservation Day (WNCD)

चर्चा में क्यों है ? प्रत्येक वर्ष 28 जुलाई को संयुक्त राष्ट्र महासभा (United Nations General Assembly)  द्वारा  विश्व प्रकृति संरक्षण दिवस मनाया जाता है। उदेश्य विश्व प्रकृति संरक्षण दिवस मनाने …

Read More

कारगिल विजय दिवस

चर्चा में क्यों है ? कारगिल युद्ध (1999) में प्राप्त विजय एवं शहीदों के सम्मान में प्रत्येक वर्ष 26 जुलाई को कारगिल विजय दिवस मनाया जाता है | कार्यक्रम वैसे …

Read More

आयकर दिवस

चर्चा में क्यों है ? भारत सरकार (आयकर विभाग )द्वारा  प्रति वर्ष 24 जुलाई को आयकर दिवस मनाया जाता है । पृष्टभूमि ब्रिटिश शासन के खिलाफ प्रथम स्वतंत्रता संग्राम के दौरान, …

Read More

राष्ट्रीय प्रसारण दिवस

चर्चा में क्यों है |  प्रत्येक वर्ष 23 जुलाई को राष्ट्रीय प्रसारण दिवस मनाया जाता है।  पृष्ठभूमि  23 जुलाई 1927 को इंडियन प्रसारण कंपनी द्वारा पहली बार मुंबई स्टेशन से रेडियो का प्रसारण प्रारम्भ किया गया ।  वर्ष 1927 में ही  कोलकाता की  निजी स्‍वामित्‍व वाली कंपनी द्वारा  2 ट्रांसमीटरों से प्रसारण सेवा की शुरुआत की गई ।   सरकार द्वारा वर्ष  1930 में इन ट्रांसमीटरों का अधिग्रहणकर लिया गया उसके पश्चात उन्हें  भारतीय प्रसारण सेवा के  नाम से , परिचालित करना शुरू कर दिया गया ।  1935 तक इसे भारतीय प्रसारण सेवा के नाम से ही जाना जाता था। लेकिन वर्ष 1936 में इसका नाम बदल कर ऑल इंडिया रेडियो रखा गया।  वर्ष  1957 तक आते –आते  ऑल इंडिया रेडियो को आकाशवाणी के नाम से पुकारा जाने लगा।   राष्ट्रीय प्रसारण दिवस के लाभ  1927 से रेडियो भारत में लोगों के जीवन का महत्वपूर्ण हिस्सा बना हुआ है और लगातार सूचना, शिक्षा और मनोरंजन उपलब्ध कराता रहा है।   वर्तमान में आकाशवाणी विश्व के सबसे बड़े लोक प्रसारकों में एक है।  सूचना और प्रसारण मंत्री ने राष्ट्रीय प्रसारण दिवस पर लोगों को शुभकामनाएं देते हुए  कहा कि रेडियो ही एक ऐसा माध्यम है जो देशभर में सभी जगहों पर आसानी से खबरों के साथ–साथ मनोरंजन का भी पंहुचा रहा  है।  उदेश्य  आज राष्ट्रीय प्रसारण को  प्रारंभ हुए 92 वर्ष  हो चुके हैं, तथा ऑल इंडिया रेडियो में 23 भाषाओं और 146 बोलियों में प्रसारण भी होता है, जिसकी पहुंच देश के  लगभग 99.19% हिस्से तक  है। प्रारंभ से लेकर वर्तमान तक इसका एक ही उदेश्य रहा है – देश के सभी कोनों तक खबरों के साथ–साथ मनोरंजन का भी पंहुचाना ।  कार्यप्रणाली  आकाशवाणी  , प्रसार भारती महानिदेशालय के तहत कार्य करता है। प्रसार भारतीय मंडल संगठन की नीतियों के निर्धारण और कार्यान्‍वयन शीर्ष स्‍तर पर सुनिश्‍चित करता है और प्रसार भारती अधिनियम, 1990 के संदर्भ में अधिदेश को पूरा करता है।  प्रसार भारती– एक परिचय  यह प्रसार भारती अधिनियम के तहत स्थापित एक वैधानिक स्वायत्त निकाय है जो  23.11.1997 को अस्तित्व में आया। यह देश का लोक सेवा प्रसारक है। सार्वजनिक सेवा प्रसारण के उद्देश्यों को आकाशवाणी और दूरदर्शन के माध्यम से प्रसार भारती अधिनियम के संदर्भ में प्राप्त किया जाता है, जो पहले सूचना और प्रसारण मंत्रालय के तहत मीडिया इकाइयों के रूप में काम कर रहे थे और उपरोक्त तिथि के बाद से प्रसार भारती के घटक बन गए। 

Read More

अंतरराष्ट्रीय नेल्सन मंडेला दिवस (Nelson Mandela International Day)

चर्चा में क्यों है ? प्रत्येक वर्ष संयुक्त राष्ट्र द्वारा 18जुलाई को अंतरराष्ट्रीय नेल्सन मंडेला दिवस मनाया जाता है | पृष्टभूमि– संयुक्त राष्ट्र महासभा द्वारा नवंबर, 2009 में 18 जुलाई …

Read More

अंतर्राष्ट्रीय न्याय दिवस (International Justice Day)

  चर्चा  में क्यों है ? प्रत्येक वर्ष 17 जुलाई को अंतर्राष्ट्रीय न्याय दिवस  मनाया जाता है, जिसे अंतर्राष्ट्रीय आपराधिक न्याय दिवस के रूप में भी जाना जाता है। अंतर्राष्ट्रीय …

Read More

विश्व युवा कौशल दिवस (World Youth Skills Day )

  चर्चा में क्यों है? संयुक्त राष्ट्र महासभा  (United Nations General Assembly) द्वारा प्रत्येक वर्ष 15 जुलाई को विश्व युवा कौशल दिवस मनाया जाता है | विश्व युवा कौशल दिवस …

Read More

Bastille Day (बास्तील दिवस)

चर्चा में क्यों है ? प्रत्येक वर्ष फ़्रांस सरकार द्वारा 14 जुलाई को राष्ट्रीय दिवस के रूप में मनाया जाता है| सामान्य तौर पर फ़्रांस  में यह  बैस्टिल दिवस के …

Read More

World Malala Day

चर्चा  में क्यों है ? संयुक्त राष्ट्र  द्वारा  प्रत्येक वर्ष  12 जुलाई  को विश्व मलाला दिवस के रूप में  मनाया जाता है | मलाला युसुफ़ज़ई –एक परिचय मलाला युसुफ़ज़ई का …

Read More